Google+ Badge

१९४७ की गलतियों से बना पाकिस्तान,
लेकिन फिर भी न सुधरा हिन्दुस्तान |
१९६२ मैं शान्ति दूत चाचा उड़ाते रहे कबूतर,
हतभागी भारत का न रहा कैलाश मान सरूवर |
भारत का बफर स्टेट तिब्बत चीन के कब्जे मैं है,
नेपाल,वर्मा, भूटान ओ पूर्वांचल कब्जाने के जज्बे मैं है |
श्री लंका मैं भी चल रहा है कुटिल कुचाली चाल,
पाकिस्तान के साथ मुगलिस्तान की गलबहियां डाल |
कैसा लगेगा जब बद्री केदार जाने को जजिया लगेगा,
रामेश्वरम सहित केरल तमिलनाडू देश से कटेगा |
गलती करने बाले को माफ़ करना समझ में आता है,
गलत को सही बताये उन्हें ढोना किसे भाता है |
राष्ट्रघाती आतंकवादी आज बेचारे हैं ,
देश समाज हित चिन्तक जाते मारे है |
अब भी न चेते तो आजादी की सुबह सांझ हो जायेगी,
प्रताप, शिवा, रणजीत के देश मैं वीरता बाँझ हो जायेगी |

Advertisement

Next
नई पोस्ट
Previous
This is the last post.
 
Top